एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी 1 माह में कैसे करें– कल के लिए सबसे अच्छी तैयारी यह होगी कि आज आप अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन करें।" एच. जैक्सन ब्राउन की कही गई इस बात को उन सभी छात्रों को मानना चाहिए जो एक महीने के भीतर होने वाली एम्स 2019 की परीक्षा देने वाले हैं। एम्स की मेडिकल परीक्षा में करीब 3 लाख छात्र अपनी किस्मत आजमाते हैं। इसी वजह से 15 एम्स इंस्टीट्यूट्स में एमबीबीएस की कुल 1,207 सीटों पर दाखिले के लिए एम्स की परीक्षा सबसे पंसदीदा मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं में से एक है। एम्स, नई दिल्ली 25 और 26 मई 2019 को ऑनलाइन मोड में एम्स की एमबीबीएस परीक्षा लेगी। एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी के लिए अब लगभग एक महीने का समय बचा है, जैसे– जैसे परीक्षा की तारीख नज़दीक आती जा रही है, वैसे– वैसे पंजीकृत छात्रों को भी अपनी तैयारी दुरुस्त करने का एहसास होने लगा होगा। 

Latest: [Crack NEET 2020 with NEET Online Preparation Program, If you Do Not Qualify- Get 100% MONEY BACK] Know more

Applications Open Now
Lovely Professional University Admissions 2020
Apply
SRM B.Tech - Admissions 2020
Apply
एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी 1 माह में कैसे करें (How to prepare for AIIMS MBBS 2019 in 1 Month)

आखिरी महीने में एम्स एबीबीएस की तैयारी के लिए जिस शेड्यूल को फॉलो किया जा रहा है, वह परीक्षा के दिन छात्र के आत्मविश्वास और तैयारी के स्तर पर बहुत असर डाल सकता है। एम्स एमबीबीएस 2019 के लिए अंतिम माह में ठोस तैयारी रणनीति बनाने के लिए छात्रों की मदद करने हेतु कॅरियर्स360 आप सब के लिए महत्वपूर्ण '1 माह में एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी कैसे करें?’ गाइड ले कर आया है। इस गाइज को एक्सपर्ट्स और पिछले वर्षों में एम्स एमबीबीएस के टॉपर रहे छात्रों के इनपुट के आधार पर तैयार किया गया है। 

NEET 2020 online preparation

Crack NEET 2020 with NEET Online Preparation Program, If you Do Not Qualify- Get 100% MONEY BACK

Know more

जब पूछा गया कि, “एक महीने में एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी कैसे करें?,” एम्स एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा 2018 में चौथी रैंक (AIR 4) लाने वाले मनराज सिंह ने बताया, “ एम्स की एमबीबीएस परीक्षा में पास होने का मेरा सक्सेस मंत्र था कि सबसे पहले मैं प्रत्येक विषय के बेसिक कॉन्सेप्ट को अच्छी तरह से समझ लूं और फिर मैंने लगातार पिछले वर्ष के पेपर्स से जितने अधिक संभव हो पाए प्रश्नों को हल किया। एम्स एमबीबीएस की परीक्षा की तैयारी के लिए मैंने अंतिम महीने में कई मॉक टेस्ट दिए।” इस लेख में साझा की गई कई जानकारियों में से यह सिर्फ एक जानकारी है जो एम्स एमबीबीएस की परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए उपयोगी साबित हो सकती है। 

Applications Open Now
MANIPAL, MAHE Admissions 2020
MAHE Ranked No. 1 Private University in India by QS World Rankings
Apply
UPES School of Health Sciences
1st Indian university with QS 5 Stars Global Rating for Employability
Apply

एक माह में एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी कैसे करें?

एम्स एमबीबीएस के पिछले वर्ष के टॉपर्स के अनुसार, एम्स एमबीबीएस के लिए अंतिम माह में बनाई जाने वाली अच्छी रणनीति तीन पिलर्स पर टिकी हुई है -

  • उचित टाइमटेबल बनाना 

  • विषय आधारित योजना का होना 

  • मॉक टेस्ट देना 


एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी 1 माह में कैसे करें: स्टडी टाइमटेबल

  • स्टडी आवर्स (पढ़ाई के घंटे): एम्स एमबीबीएस (AIIMS MBBS) 2019 के लिए उचित टाइमटेबल बनाएं और उसका सख्ती से पालन करें। एम्स एमबीबीएस 2019 के अंतिम माह की तैयारी में पढ़ाई के लिए दिया जाने वाला समय अलग– अलग छात्रों के लिए अलग– अलग होता है। वंशिका अरोड़ा, एम्स एमबीबीएस 2017 के टॉपर्स में से एक, ने एम्स एमबीबीएस की तैयारी के अंतिम माह में रोजाना करीब 10-11 घंटों की पढ़ाई की थी जबकि मृदुला शर्मा (AIR 5, एम्स एमबीबीएस 2016) ने परीक्षा के अंतिम चार सप्ताहों में रोजाना करीब 8 -10 घंटों की पढाई की।  

  • समय का बंटवारा: एम्स एमबीबीएस 2019 के अंतिम माह की तैयारी को कमजोर विषयों पर ध्यान देते हुए बांटें, एम्स एमबीबीएस के परीक्षा पैटर्न के आधार पर प्रश्नों को हल करें और मॉक टेस्ट से प्रैक्टिस करें। समय को चैप्टर्स के महत्व के अनुसार बांटा जाना चाहिए। एम्स एम्बीबीएस 2019 के विषय–वार महत्वपूर्ण टॉपिक्स नीचे देखें। 


एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी 1 माह में कैसे करें: विषय–वार योजना 

  • एम्स एमबीबीएस परीक्षा पैटर्न: सभी तीन प्रमुख विषय जैसे भौतिकी, रसायनशास्त्र और जीवविज्ञान; एम्स एमबीबीएस की परीक्षा में एक समान महत्व रखते हैं, इन तीनों ही विषयों से 60 – 60 प्रश्न पूछे जाते हैं। इन प्रमुख विषयों के अलावा, सामान्य ज्ञान और एप्टीट्यूड एंड लॉजिकल थिंकिंग से बाकी के बचे 20 प्रश्न पूछे जाते हैं। यह नीट (NEET) की परीक्षा से बिल्कुल उल्टा है, नीट की परीक्षा में सबसे अधिक प्रश्न बायोलॉजी/ जीवविज्ञान से पूछे जाते हैं। 

  • टैक्लिंग रीजन– असर्शन क्वेश्चंस: AIIMS MBBS की पीरक्षा में रीजन– असर्शन पर आधारित काफी प्रश्न पूछे जाते हैं। इन प्रश्नों को हल करने के लिए इनके कॉन्सेप्ट्स पर अच्छी पकड़ होना अनिवार्य है। एक्सपर्ट डॉ. परमानंद अग्रवाल बताते हैं, “एम्स एमबीबीएस की परीक्षा में रीजन– असर्शन के प्रश्नों को हल करने के लिए, सबसे पहले असर्शन को पढ़ें और फिर ‘because’ शब्द का प्रयोग करते हुए रीजन को; या  सबसे पहल रीजन को पढ़ें और फिर ‘therefore’ शब्द का प्रयोग करते हुए असर्शन को पढ़ें। इससे छात्रों को यह पता लगाने में मदद मिलेगी की रीजन सही तरीके से असर्शन की व्याख्या कर रहा है या नहीं।”

  • समग्र विषयवार योजना: वंशिका सुझाव देती हैं कि अंतिम माह की तैयारी में छात्रों को अपने कमजोर विषयों पर फोकस करना चाहिए और परीक्षा की दृष्टि से उन विषयों के महत्व को देखते हुए प्रश्नपत्रों को हल कर उन पर काम करना चाहिए। एम्स एमबीबीएस 2019 के लिए महत्वपूर्ण टॉपिक्स को समझने के लिए छात्र एम्स एमबीबीएस की परीक्षा के पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों का विषयवार विश्लेषण कर सकते हैं।

  • विषय–वार महत्वपूर्ण सुझाव: भौतिकी संख्या–केंद्रित विषय है। इसके प्रश्नों को नियमित रूप से हल करने से छात्रों को इस विषय पर पकड़ बनाने में मदद मिलेगी। रसायनशास्त्र सभी विषयों में सबसे अधिक अंक दिलाने वाला साबित हो सकता है। एम्स एमबीबीएस 2019 के लिए रसायनशास्त्र विषय की तैयारी हेतु पिछले वर्षों के प्रश्नों की प्रैक्टिस करें और रसायनिक समीकरणों यानि केमिकल इक्वेशंस, सिद्धांतों यानि थ्यरी और न्यूमेरिकल्स को अच्छी तरह से दोहराएं।   . जीवविज्ञान में पादप विज्ञान (बॉटनी) और जंतु विज्ञान (जूलॉजी) होते हैं, इसमें बहुत कुछ याद करना पड़ता है। एम्स एमबीबीएस 2019 में जीवविज्ञान की अच्छी तैयारी के लिए डायग्राम्स, फ्लो चार्ट और माइंड मैप्स की मदद लें। 

  • स्टडी मटेरियल (अध्ययन सामग्री): एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी के अंतिम महीने में, छात्रों को एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों और पहले पढ़े गए मॉड्यूल्स से विज्ञान विषयों को दोहराने की सलाह दी जाती है। अन्य पुस्तकों का प्रयोग केवल अवधारणात्मक स्पष्टता और प्रश्नों को हल करने के लिए ही किया जाना चाहिए।   

    महत्वपूर्ण विषय – भौतिकी: किनमेटीक्स (शुद्ध गति विज्ञान/ Kinematics), गति के सिद्धांत (Laws of Motion), घूर्णन यांत्रिकी (रोटेशनल मकैनिक्स/Rotational Mechanics), मॉडर्न फिजिक्स (Modern Physics)

महत्वपूर्ण विषय – रसायनशास्त्र: ऑर्गैनिक केमेस्ट्री सबसे महत्वपूर्ण है, इसके बाद एल्डिहाइड्स (Aldehydes), समतुल्यता (Equilibrium), केमिकल काइनेटिक्स (Chemical Kinetics), कीटोन (Ketone), कार्बॉक्सिलिक एसिड (Carboxylic Acid)
महत्वपूर्ण विषय – जीवविज्ञान: अनुवांशिकी (Genetics), सिस्टमैटिक्स (Systematics), ऊतक (Cells), मनुष्य का स्वास्थ्य एवं बीमारियां (Human Health & Diseases) 


एम्स एमबीबीएस 2019 की तैयारी 1 माह में कैसे करें: मॉक टेस्ट 

  • सही सोर्स चुनना: अच्छी तैयारी के लिए मॉक टेस्ट देना और एम्स एमबीबीएस के पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों को हल करने की सलाह सभी एक्सपर्ट्स और टॉपर्स देते हैं। वंशिका सुझाव देती हैं कि, “एम्स एमबीबीएस की तैयारी के दौरान मॉक टेस्ट देते समय, सबसे पहले एनसीईआरटी के बेसिक क्वेश्चंस कर लें, फिर पिछले वर्ष के प्रश्नों को हल करें और फिर अन्य रेफरेंस मटेरिल्स से ऊंचे स्तर के प्रश्नों को हल करें।” 

  • परीक्षा के समय के दौरान हल करें: अभ्यर्थियों को एम्स एमबीबीएस 2019 के परीक्षा समय के साथ अपने शरीर और मस्तिष्क के बीच समन्वय स्थापित करने की सलाह दी जाती है। ऐसा करने के लिए, अभ्यर्थी परीक्षा के समय सीमा (सुबह 9.00 बजे से 12.30 बजे और दोपहर 3.00 बजे से शाम 6.30 बजे) में पूरी मॉक–टेस्ट दे सकते हैं। चूँकि एम्स एमबीबीएस 2019 कंप्यूटर पर ली जाने वाली परीक्षा है, अभ्यर्थी प्रैक्टिस के लिए ऑनलाइन टेस्ट सीरिज भी ज्वाइन कर सकते हैं। 

  • स्पीड बनाए रखना और परीक्षा के दिन की रणनीति बनाना: स्पीड में सुधार करने और एम्स एमबीबीएस की परीक्षा के प्रत्येक विषय खंड पर कितना समय खर्च करना चाहिए और निगेटिव मार्किंग को कैसे न्यूनतम करें, इसके लिए परीक्षा के दिन की रणनीति बनाने का सबसे अच्छा तरीका है मॉक्स की प्रैक्टिस करना। तमोगना (AIR 3, एम्स एमबीबीएस 2017) कहती हैं, “ स्पीड महत्वपूर्ण कारक है। पूरा पेपर 2.5 घंटे में पूरा करने का लक्ष्य रखें और बाकी का समय दुहराने में लगाएं।” 


एम्स एमबीबीएस के अंतिम माह की तैयारी में महत्वपूर्ण कारक: तनाव से निपटना  

एम्स एमबीबीएस 2019 के उपर उल्लिखित तीन स्तंभों की अंतिम माह की तैयारी के अलावा, तनाव से निपटना और तैयारी के अंतिम चार सप्ताहों में खुद को शांत बनाए रखना बहुत महत्वपूर्ण है। ब्रेक लेने के दौरान, दौड़ना, संगीत सुनना, स्वीमिंग, योगा, ध्यान आदि जैसी तनावमुक्त करने वाली गतिविधि करें ताकि आप स्वयं को शांत बनाए रख सकें और तैयारी को बेहतर बना सकें। 

एम्स एमबीबीएस 2019 परीक्षा पैटर्न 

परीक्षा की तारीख

25 और 26 मई 2019

परीक्षा का मोड 

ऑनलाइन (कंप्यूटर आधारित)

परीक्षा का समय 

फर्स्ट शिफ्ट: सुबह 9.00 बजे से दोपहर 12.30

सेकेंड शिफ्ट: दोपहर 3.00 बजे से 6.30 बजे 

कुल घंटे  

3.5 घंटे (210 मिनट )

कुल प्रश्न  

200

भौतिकी: 60 

रसायनशास्त्र: 60

  • जीवविज्ञान: 60

  • सामान्य ज्ञान: 10

  • एप्टीट्यूड एंड लॉजिकल थिंकिंग: 10



Applications Open Now

Sharda University - SUAT Admission Test 2020
Sharda University - SUAT Admi...
Apply
SRM B.Tech - Admissions 2020
SRM B.Tech - Admissions 2020
Apply
Lovely Professional University Admissions 2020
Lovely Professional Universit...
Apply
MANIPAL, MAHE Admissions 2020
MANIPAL, MAHE Admissions 2020
Apply
NMIMS NPAT 2020
NMIMS NPAT 2020
Apply
UPES School of Health Sciences
UPES School of Health Sciences
Apply
Symbiosis Entrance Test (SET-2020)
Symbiosis Entrance Test (SET-...
Apply
View All Application Forms

संबंधित लेख और समाचार

Top
150M+ छात्र
24,000+ कालेजों
500+ परीक्षा
1500+ ई बुक्स