नीट कटऑफ 2019 (NEET Cut Off 2019)
Team Careers, 04 जुलाई 2019
Applications Open Now
Hindustan University-UG Admissions
Apply

नीट कटऑफ 2019 – नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने 5 जून को नीट रिजल्ट के साथ नीट 2019 कट ऑफ जारी कर दिया है। नीट 2019 कटऑफ से मतलब मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए जरूरी न्यूनतम अंक से है। प्रत्येक कैटेगरी के लिए नीट 2019 के कटऑफ स्कोर में 15 अंकों की वृद्धि हो गई है। सामान्य वर्ग के लिए नीट कटऑफ पर्सेंटाइल 50 पर्सेंटाइल है, जबकि संबंधित अंक 701 से 134 घोषित किये गए हैं। अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / अन्य पिछड़ा वर्ग (40 पर्सेंटाइल) के लिए कटऑफ 133- 107 है और अनारक्षित पीडब्ल्यूडी उम्मीदवारों के लिए कटऑफ (45पर्सेंटाइल) 133- 120 रही है। सीधे तौर पर कहें तो नीट 2019 कटऑफ उम्मीदवारों के क्वालीफाइंग स्टेटस के बारे में बताता है। नीट कटऑफ 2019 में ऑल इंडिया रैंक (एआईआर) और नीट स्कोर (कुल अंक और हर सेक्शन में प्राप्त अंक) के साथ नीट स्कोरकार्ड की जानकारी होती है। नीट कटऑफ 2019 के बराबर या इससे ज्यादा अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों के ही मेडिकल, डेंटल और इससे जुड़े अन्य कोर्स में एडमिशन पर विचार किया जाएगा।

Latest: [Careers360 brings you All India Talent search exam (CTSE) for medical exams aspirants 2020/21. Get Scholarship and prizes worth 1.25 Crore. Hurry Up]  - Register here

LATEST: एनटीए ने नीट 2020 परीक्षा तारीखों की घोषणा कर दी है - यहाँ देखें

विदेश में एमबीबीएस की पढ़ाई की इच्छा रखने वाले उम्मीदवारों को भी इससे जुड़ी पात्रता हासिल करने के लिए नीट कटऑफ 2019 में क्वालिफाई करना होगा। नीट 2019 के उम्मीदवार यहां नीट कटऑफ 2019 से जुड़ी सभी अहम जानकारी के बारे में पता कर सकते हैं, मसलन- मिनिमम (न्यूनतम) क्वालिफाइंग पर्सेंटाइल, टाइब्रेकर से जुड़े नियम, नीट कटऑफ 2019 पैटर्न, टॉप कॉलेजों का कटऑफ पैटर्न आदि।

CTSE 2019 for NEET

Careers360 talent search exam(CTSE) - Upto 100% Scholarship and prizes

Register Now

परीक्षा में क्वालीफाई करने के लिए जरूरी मिनिमम पर्सेंटाइल पहले ही बता दी गई है, लिहाजा उम्मीदवारों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल के बराबर अंक प्राप्त करें। इस बात का भी ध्यान रखें कि अलग-अलग कैटेगरी के लिए नीट 2019 कटऑफ अलग-अलग होगी। नीट 2019 कटऑफ का मतलब उस न्यूनतम अंक से भी है, जो किसी उम्मीदवार को मेडिकल, डेंटल और इससे जुड़े अन्य कोर्सों में एडमिशन के लिए हासिल करना जरूरी है। राष्ट्रीय और राज्य स्तर से जुड़ी काउंसलिंग प्रक्रिया खत्म के बाद नीट कटऑफ 2019 की शर्त तय की जाएगी।

नीट 2018 के आंकड़ों की बात करें तो परीक्षा मे कुल 12,69,922 उम्मीदवार परीक्षा में शामिल हुए, उनमें से सिर्फ 7,14,562 परीक्षा में क्वालीफाई कर सके, जिन्होंने नीट कटऑफ क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल के बराबर या इससे ज्यादा अंक हासिल किया। पिछले साल के डेटा के मुताबिक, अनारक्षित कैटेगरी के उम्मीदवारों को 50वें पर्सेंटाइल के बराबर या इससे ऊपर अंक हासिल करने के लिए नीट 2019 में कम से कम 119 अंक हासिल करना पड़ा। इसके अलावा, आरक्षित कैटेगरी के उम्मीदवारों को कटऑफ में जगह बनाने के लिए 40वें पर्सेंटाइल के बराबर (कम से कम 96 अंक) या इससे ज्यादा अंक प्राप्त करना पड़ा, जबकि दिव्यांग कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए ए़डमिशन के योग्य होने की खातिर नीट यूजी .की कटऑफ शर्तों के मुताबिक कम से कम 107 अंक प्राप्त करना जरूरी था।

नीट कटऑफ 2019- मिनिमम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल

मिनिमम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल से मतलब नीट 2019 परीक्षा में क्वालीफाई करने के लिए जरूरी न्यूनतम पर्सेंटाइल से है। चूंकि, पर्सेंटाइल परीक्षा में शामिल हुए सभी उम्मीदवारों के अपेक्षाकृत प्रदर्शन पर निर्भर करता है, लिहाजा इससे जुड़े अंक के बारे में रिजल्ट की घोषणा के बाद ही जानकारी मिल सकती है। जैसा कि नीचे टेबल में बताया गया है, नीट 2019 में क्वालीफाई करने के लिए उम्मीदवारों को नीट 2019 के पर्सेंटाइल के बराबर या इससे ज्यादा अंक प्राप्त करने होंगे।

नीट न्यूनतम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल


कैटेगरी


न्यूनतम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल


क्वालिफाइंग स्कोर

क्वालिफाइड उम्मीदवारों की संख्या

अनारक्षित (यूआर)

50वां पर्सेंटाइल

701-134
7,04,335

अनारक्षित दिव्यांग (यूआर-पीएच)

45वां पर्सेंटाइल

133-120
266

अनुसूचित जाति (एससी)

40वां पर्सेंटाइल

133-107
20,009

अनुसूचित जनजाति (एसटी)

40वां पर्सेंटाइल

133-107
8,455

अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी)

40वां पर्सेंटाइल

133-107
63,789

एससी-पीएच

40वां पर्सेंटाइल

119-107
32

एसटी-पीएच

40वां पर्सेंटाइल

119-107
14

ओबीसी-पीएच

40वां पर्सेंटाइल

119-107
142
कुल
7,97,042


नीट कटऑफ 2019 - जेंडर-वाइज क्वालिफाइड उम्मीदवार

जेंडर
रजिस्टर्ड
परीक्षा में उपस्थित हुए
परीक्षा में अनुपस्थित
उत्तीर्ण
पुरुष
68041463028350131351278
महिला
83895578046758488445761
ट्रांसजेंडर
6513
कुल
15193751410755108620797042


नीट कटऑफ 2019 - कैटेगरी-वाइज योग्य उम्मीदवार

कैटेगरी
रजिस्टर्ड
परीक्षा में उपस्थित हुए
परीक्षा में अनुपस्थित
उत्तीर्ण
ओबीसी
67754463147346071375635
एससी
2113031931881811599890
एसटी
96456862101024635272
यूआर
53407249988434188286245
कुल
15193751410755108620797042


कोचिंग संस्थानों द्वारा 15% AIQ के लिए नीट 2019 की संभावित कटऑफ

कोचिंग संस्थान
संभावित कटऑफ (ओपन कैटेगरी)
श्री चैतन्या
538
कैरियर पॉइंट (शैलेन्द्र माहेश्वरी के अनुसार)
555-565
रेजोनेंस
565-570


नीट कटऑफ 2019 - पर्सेंटाइल मोड

नीट कटऑफ 2019 को अंकों की बजाय पर्सेंटाइल फॉर्म में तय किया जाता है। पर्सेंटाइल का मतलब अंकों से जुड़े एक निश्चित प्रतिशत के दायरे से है। लिहाजा, पर्सेंटाइल का मामला उम्मीदवारों के तुलनात्मक प्रदर्शन पर निर्भर करता है। उदाहरण के तौर पर अगर अनारक्षित उम्मीदवारों के लिए नीट कटऑफ 2019 50वां पर्सेंटाइल है तो इसका मतलब यह है कि इस कैटेगरी में उम्मीदवारों को इस कैटेगरी के 50% उम्मीदवारों से ज्यादा अंक हासिल करने की जरूरत होगी। नीट कटऑफ 2019 का पर्सेंटाइल सिस्टम यह भी सुनिश्चित करता है कि परीक्षा की निष्पक्षता बनाए रखने के लिए परीक्षा देने वालों की संख्या और परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों की तैयारी का स्तर, जैसे पहलुओं पर भी विचार किया जाए।

नीट कटऑफ पर्सेंटाइल

नीट कटऑफ पर्सेंटाइल सभी उम्मीदवारों के प्रदर्शन की तुलना में किसी एक उम्मीदवार का अपेक्षाकृत प्रदर्शन है। उम्मीदवारों के पर्सेंटाइल स्कोर का मतलब यह होगा कि उस उम्मीदवार से नीचे कितने उम्मीदवारों ने अंक हासिल किया है। एनटीए की तरफ से जारी सूचना के मुताबिक, ऑल इंडिया कॉमन मेरिट लिस्ट से जुड़े उच्चतम अंक के आधार पर पर्सेंटाइल का निर्धारण होगा। इसलिए, नीट कटऑफ पर्सेंटाइल का आकलन करते वक्त टॉपर के अंकों को ध्यान में रखते हुए किसी उम्मीदवारों के अंक पर विचार किया जाएगा।

नीट कटऑफ 2019: टाई-ब्रेकर का नियम

टाई-ब्रेकर नियम का इस्तेमाल वैसी स्थिति में नीट एआईआर आवंटन में किया जाता है, जब दो या इससे ज्यादा उम्मीदवारों का अंक बराबर हो। टाई-ब्रेकर नियम के आधार पर ही नीट मेरिट लिस्ट 2019 तैयार की जाएगी। टाई की स्थिति को खत्म करने के लिए नीचे दिए नियमों का पालन किया जाएगा।

•नीट 2019 में बायोलॉजी में प्राप्त अंकः जो उम्मीदवार बायोलॉजी (बॉटनी और जूलॉजी) सेक्शन में ज्यादा अंक हासिल करेंगे, उन्हें इस सेक्शन में अपेक्षाकृत कम अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों के मुकाबले तरजीह दी जाएगी।

•नीट 2019 में केमिस्ट्री में प्राप्त अंकः अगर इस नियम से कोई हल नहीं निकलता है तो केमिस्ट्री में ज्यादा अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को कम अंक को प्राथमिकता दी जाएगी।

•गलत जवाबों की संख्याः अगर ऊपर बताए गए मानकों को आजमाने के बाद भी टाई की स्थिति बनी रहती है तो वैसे उम्मीदवार को तवज्जो मिलेगी, जिसने कम गलत जवाब दिया है। जिस उम्मीदवार ने जवाब देने में ज्यादा गलती है, उसके मुकाबले कम गलत जवाब देने वाले उम्मीदवार को वरीयता दी जाएगी।

•उम्रः अगर इन तमाम विकल्पों को आजमाने के बाद भी टाई की स्थिति बनी रहती है, तो जिस उम्मीदवार की आयु अधिक होगी, उसे कम उम्र वाले उम्मीदवार की तुलना में प्राथमिकता मिलेगी।

नीट कटऑफ 2019 में रिवीजन

नीट कटऑफ 2019 में रिवीजन की नौबत तब आती है, जब परीक्षा में क्वालीफाई करने वाले उम्मीदवारों की संख्या एडमिशन के लिए उपलब्ध सीटों की संख्या से कम हो जाए। ऐसी स्थिति में केंद्र सरकार के पास यह अधिकार होता है कि वह एमसीआई (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) और डीसीआई (डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया) के साथ सलाह-मशविरा कर एमबीबीएस/बीडीएस एडमिशन के लिए नीट कटऑफ 2019 की न्यूनतम पर्सेंटाइल संबंधी शर्तों को कम करे या इसमें संशोधन करे।

15% ऑल इंडिया कोटा काउंसलिंग के लिए मेरिट लिस्ट

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) पर 15% ऑल इंडिया कोटा सीटों की मेरिट लिस्ट तैयार करने की जिम्मेदारी है। जो उम्मीदवार अपनी-अपनी कैटेगरी में न्यूनतम कटऑफ 2019 हासिल कर इस परीक्षा में क्वालीफाई करेंगे, उन्हें मेरिट लिस्ट में शामिल किया जाएगा। नीट 2019 मेरिट लिस्ट 15% ऑल इंडिया कोटा सीटों की काउंसलिंग से जुड़ी रेगुलेटरी ईकाई डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ हेल्थ सर्विसेज भेजी जाएगी। डीजीएचएस इसे संबंधित स्टेट काउंसलिंग अथॉरिटी को भेजेगा।

पिछले वर्षों से संबंधित नीट कटऑफ

नीट में अधिकतम अंकों की सीमा 720 है। अलग-अलग कैटेगरी वाले उम्मीदवारों को परीक्षा क्वालीफाई करने के लिए न्यूनतम कटऑफ हासिल करना जरूरी है। नीट 2018 में क्वालीफाई करने वाले अलग-अलग कैटेगरी के उम्मीदवारों की संख्या और इससे संबंधित अंकों के बारे में नीचे टेबल में जानकारी दी गई है।

नीट कटऑफ 2018: अलग-अलग अंकों की रेंज के तहत क्वालीफाई करने वाले उम्मीदवार

कैटेगरी

मिनिमम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल

मार्क्स रेंज

क्वालीफाइड उम्मीदवारों की संख्या

अनारक्षित (यूआर)

50वां पर्सेंटाइल

691-119

6,34,897*

अनारक्षित दिव्यांग (यूआर-पीएच)

45वां पर्सेंटाइल

118-107

205

अनुसूचित जाति (एससी)

40वां पर्सेंटाइल

118-96

17,209

अनुसूचित जनजाति (एसटी)

40वां पर्सेंटाइल

118-96

7,446

अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी)

40वां पर्सेंटाइल

118-96

54,653

एससी-पीएएच

40वां पर्सेंटाइल

106-96

36

एसटी-पीएच

40वां पर्सेंटाइल

106-96

12

ओबीसी-पीएच

40वां पर्सेंटाइल

106-96

104

* खास कैटेगरी नहीं बल्कि संबंधित मार्क्स रेंज में उम्मीदवारों की संख्या के बारे में बताता है

नीट कटऑफ 2017: अलग-अलग मार्क्स रेंज के तहत क्वालीफाई करने वाले उम्मीदवार

कैटेगरी

मिनिमम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल

मार्क्स रेंज

क्वालीफाइड उम्मीदवारों की संख्या

अनारक्षित (यूआर)

50वां पर्सेंटाइल

697-131

5,43,473*

अनारक्षित दिव्यांग (यूआर-पीएच)

45वां पर्सेंटाइल

130-118

67

अनुसूचित जाति (एससी)

40वां पर्सेंटाइल

130-107

14599

अनुसूचित जनजाति (एसटी)

40वां पर्सेंटाइल

130-107

6018

अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी)

40वां पर्सेंटाइल

130-107

47382

एससी-पीएच

40वां पर्सेंटाइल

130-107

38

एसटी-पीएच

40वां पर्सेंटाइल

130-107

10

ओबीसी-पीएच

40वां पर्सेंटाइल

130-107

152

* खास कैटेगरी नहीं बल्कि संबंधित मार्क्स रेंज में उम्मीदवारों की संख्या के बारे में बताता है

नीट कटऑफ 2018: कैटेगरी के आधार पर क्वालीफाइड उम्मीदवार

कैटेगरी

नीट क्वालीफिकेशन पर्सेंटाइल

नीट क्वलीफिकेशन स्कोर (कुल 720 में से)

क्वालीफाइड उम्मीदवार

(नीट कटऑफ में सफल होने वाले)

यूआर

50वां पर्सेंटाइल

119

2,68,316

ओबीसी

40वां पर्सेंटाइल

96

3,27,575

एससी

40वां पर्सेंटाइल

96

87,311

एसटी

40वां पर्सेंटाइल

96

31,360

नीट 2018 लिंगानुसार सफल उम्मीदवारों की सूची

लिंग

रजिस्टर्ड उम्मीदवार

परीक्षा में शामिल हुए उम्मीदवार

क्वालीफाइड उम्मीदवार

(नीट कटऑफ में सफल होने वाले)

पुरुष

5,80,649

5,53,849

3,12,399

महिला

7,46,075

7,16,072

4,02,162

ट्रांसजेंडर

01

01

01

कुल

13,26,725

12,69,922

7,14,562

नीट 2018 सफल उम्मीदवारों की सूची- राष्ट्रीयता के आधार पर

राष्ट्रीयता

रजिस्टर्ड उम्मीदवार

परीक्षा में शामिल हुए उम्मीदवार

क्वालीफाइड उम्मीदवार

(नीट कटऑफ में सफल होने वाले)

भारतीय

13,23,673

12,67,229

7,12,635

विदेशी

621

518

324

एनआरआई

1,842

1,651

1,200

ओसीआई

529

461

367

पीआईओ

60

55

36

नीट 2018 बनाम नीट 2017 कटऑफ स्कोर

उम्मीदवार नीचे 2018 और नीट 2017 से संबंधित क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल की शर्तों से जुड़े क्वालीफाइंग अंकों की तुलना कैटेगरी के आधार पर हर साल के लिए कर सकते हैं। विभिन्न कैटेगरी के उम्मीदवारों के जिन उम्मीदवारों ने निर्धारित पर्सेंटाइल इससे ज्यादा अंक हासिल किया, उन्हें नीट 2018 और 2017 में एडमिशन के लिए क्वालीफाइड घोषित किया गया। दोनों वर्षों में मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए क्वालीफाई करने की खातिर न्यूनतम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल ऊपर बताए गए नीट 2018 कटऑफ पर्सेंटाइल के बराबर ही थी। इसका मतलब यह है कि पर्सेंटाइल आधारित प्रणाली का उपयोग कर कटऑफ स्कोर तैयार किया गया है।

पिछले वर्षों के एडमिशन से जुड़ी ऑल इंडिया कटऑफ रैंक

नीट 2018 एआईक्यू (ऑल इंडिया कोटा) काउंसलिंग के आंकड़ों के मुताबिक, 10,443 रैंक तक वालेअनारक्षित उम्मीदवार एआईक्यू के तहत एमबीबीएस एडमिशन के लिए चुने गए, जबकि बीडीएस एडमिशन के लिए 17,093 रैंक तक वाले उम्मीदवारों पर विचार किया गया। नीट 2019 के उम्मीदवार नीट 2017, नीट 2016 और एआईपीएमटी 2015 के तहत विभिन्न कैटेगरी में एमबीबीएस और बीडीएस सीटों में एडमिशन के लिए जरूरी एआईक्यू अंतिम रैंक के बारे में नीचे दिए ग्राफ के जरिये पता कर सकते हैं।

नीट कटऑफ 2018 - एमबीबीएस के लिए कैटेगरी आधारित ऑल इंडिया कोटा कटऑफ

कैटेगरी

नीट 2018 एआईआर

नीट 2018

मार्क्स#

आवंटित कॉलेज

सामान्य

10443

537

मिजोरम इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन ऐंड रिसर्च, फल्कान

ओबीसी

10449

537

मिजोरम इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन ऐंड रिसर्च, फल्कान

एससी

64642

417

तूतूकुड़ी मेडिकल कॉलेज, तूतूकड़ी

एसटी

77792

399

तेजपुर मेडिकल कॉलेज, तेजपुर

सामान्य पीएच (दिव्यांग)

397544

184

गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, सिद्दिपेट

ओबीसी पीएच

379480

210

सिचलर मेडिकल कॉलेज, सिलचर

एससी पीएच

725351

101

कोडागु इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, कोडागु

एसटी पीएच

607500

125

गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, राजनांदगांव

*आवंटित कैटेगरी नहीं बल्कि उम्मीदवारों की कैटेगरी के बारे में बताता है

# अंक (तकरीबन)

नीट कटऑफ 2018 – बीडीएस के लिए ऑल इंडिया कोटा

कैटेगरी *

नीट एआईआर

नीट

मार्क्स #

आवंटित कॉलेज

सामान्य

17093

513

राजा मुथैया डेंटल कॉलेड ऐंड हॉस्पिटल, अन्नामलाई

ओबीसी

15684

517

एसआईसी डेंटल कॉलेज, गुलबर्ग

एससी

79166

398

जवाहरलाल नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज, इंफाल

एसटी

99791

373

जवाहरलाल नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज, इंफाल

सामान्य पीएच (दिव्यांग)

476405

158

जवाहरलाल नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज, इंफाल

ओबीसी पीएच

470739

160

आरयूएचएस कॉलेज ऑफ डेंटल साइंस, जयपुर

एससी पीएच

-

-

-

एसटी पीएच

-

-

-

*आवंटित कैटेगरी नहीं बल्कि उम्मीदवारों की कैटेगरी के बारे में बताता है

# अंक (तकरीबन)

टॉप 10 गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेजों का नीट कटऑफ

मेडिकल कॉलेजों का नाम

2018 नीट क्लोजिंग रैंक*

2017 नीट क्लोजिंग रैंक *

2016 नीट क्लोजिंग रैंक*

2015 एआईपीएमटी क्लोजिंग रैंक *

2014 एआईपीएमटी क्लोजिंग रैंक *

मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली

58

49

44

28

59

वीएमसीसी MMC ऐंड सफरजंग हॉस्टिपटल, नई दिल्ली

107

82

106

56

105

यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज, नई दिल्ली

165

185

128

97

158

लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली

314

369

263

117

284

गवर्नमेंट मेडिकल मेडिकल कॉलेज, चंडीगढ़

254

278

162

158

303

सेठ जी. एस. मेडिकल कॉलेज, मुंबई

296

297

408

216

459

किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ

703

725

506

386

776

Sस्टैनली मेडिकल कॉलेज, चेन्नई

3520

3,858

2,264

2,039

2,003

पंडित भगवत दयाल शर्मा पोस्ट ग्रैजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, रोहतक

1178

1,481

1,035

674

1,512

ग्रांट मेडिकल कॉलेज ऐंड सर जेजे ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स, मुंबई

1122

1,018

408

565

1,008

*यूआर कैटेगरी की क्लोजिंग रैंक को दिखाता है

नीट कटऑफ 2018 – एमबीबीएस के लिए डीम्ड यूनिवर्सिटीज कटऑफ

कोटा

नीट एआईआर

नीट मार्क्स #

आवंटित कॉलेज

मैनेजमेंट/पेड (सामान्य कैटेगरी)

453885

165

श्री लक्ष्मी नारायण इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, पुडुचेरी

एनआरआई (ओबीसीउम्मीदवार )

711901

104

सविता मेडिकल कॉलेज, चेन्नई

एनआरआई (यूआर उम्मीदवार)

614993

123

बी. एल. डी. ई. यूनिवर्सिटी, बीजापुर

मुस्लिम अल्पसंख्यक

135581

337

येनेपोया मेडिकल कॉलेज, मैंगलोर

जैन अल्पसंख्यक

125138

347

एसबीकेएस मेडिकल इंस्टीट्यूट ऐंड रिसर्च सेंचर, वड़ोदरा

#अंक (तकरीबन)

नीट कटऑफ 2018 – बीडीएस के लिए डीम्ड यूनिवर्सिटीज कटऑफ

कोटा

नीट

एआईआर

नीट मार्क्स #

आवंटित कॉलेज

मैनेजमेंट/पेड

634449

119

येनेपोया डेंटल कॉलेज, येनेपोया

एनआरआई

316989

220

एसआरएम कैट डेंटल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल, चेन्नई

जैन अल्पसंख्यक

633535

119

के. एम. शाह डेंटल कॉलेज, वड़ोदरा

#अंक तकरीबन

नीट रिजल्ट 2019

रिजल्ट का ऐलान 5 जून को होगा। नीट 2019 रिजल्ट सिर्फ ऑनलाइन जारी किया जाएगा। नीट रिजल्ट स्कोरकार्ड की तरह जारी किया जाता है और इसमें परीक्षा में प्राप्त अंक और नीट ऑल इंडिया रैंक (एआईआर) भी होगी। स्कोर कार्ड में यह भी बताया जाएगा कि उम्मीदवार ने नीट कटऑफ 2019 के आधार पर परीक्षा में क्वालीफाई किया या नहीं। एनटीए द्वारा नीट एआईआर के साथ मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी और इसे डीजीएचएस और स्टेट काउंसलिंग प्रशासनों को उपलब्ध कराई जाएगी। नीट 2019 मेरिट लिस्ट दो फॉर्मेट में तैयार की जाएगी-सामान्य मेरिट लिस्ट और कैटेगरी के आधार पर मेरिट लिस्ट।

नीट काउंसलिंग 2019

नीट 2019 की काउंसलिंग जून के तीसरे हफ्ते में शुरू होने की संभावना है। जो उम्मीदवार नीट कटऑफ 2019 के बराबर या इससे ज्यादा अंक हासिल करेंगे, वे काउंसलिंग प्रक्रिया में भाग लेने के योग्य होंगे। मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (एमसीसी) के बदले डीजीएचएस 15% ऑल इंडिया कोटा सीटों के लिए दो राउंड में काउंसलिंग आयोजित करेगा। डीजीएचएस डीम्ड और केंद्रीय विश्वविद्यालयों, एएसआईसी कॉलेजों और एएफएमसी, पुणे के लिए भी काउंसलिंग का आयोजन करने वाली ईकाई है। राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों की काउंसलिंग इकाइयां का सरकारी और प्राइवेट कॉलेजों में स्टेट कोटा की सीटें व प्राइवेट कॉलेजों में मैनेजमेंट कोटा और एनआरआई कोटा सीटों पर नियंत्रण होगा। काउंसलिंग प्रक्रिया में हिस्सा के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए संबंधित काउंसलिंग प्रशासन के साथ रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी है। रेगुलेटरी इकाइयां नीट काउंसलिंग 2019 शुरू होने से पहले हर कैटेगरी के लिए सीटों की संख्या के बारे में बताएंगी।

नीट सीट आवंटन 2019

चूंकि मेडिकल और डेंटल कोर्स में एडमिशन मेरिट और उम्मीदवारों द्वारा दिए गए विकल्प के आधार पर लिया जाता है, इसलिए काउंसलिंग प्रक्रिया खत्म होने के बाद सीटों के आवंटन की घोषणा की जाती है। नीट सीट आवंटन 2019 के जरिये काउंसलिंग की हर राउंड के बाद उम्मीदवारों को आवंटित कॉलेज और कोर्स के बारे में जानकारी मिलती है। किसी कॉलेज में एडमिशन से जुड़ा न्यूनतम अंक उस कॉलेज का नीट कट 2019 बन जाता है।

नीट कटऑफ 2019 – अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफएक्यू)

सवालः नीट कटऑफ का मिनिमम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल क्या बताता है?

जवाब : नीट के मिनिमम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल का मतलब एडमिशन प्रक्रिया के योग्य होने के लिए जरूरी कटऑफ है। पर्सेंटाइल कई चीजों पर निर्भर करता है- उदाहरण के तौर पर कितने उम्मीदवारों ने परीक्षा दी है और सवालों की कठिनता का स्तर क्या है। यह परीक्षा देने वाले सभी उम्मीदवारों के प्रदर्शन पर भी निर्भर करता है।

सवाल : क्या नीट 2019 कटऑफ पर्सेंटाइल हासिल करना मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में एडमिशन पक्का करता है?

जवाब : जो उम्मीदवार नीट 2019 कटऑफ पर्सेंटाइल हासिल करने में सफल रहते हैं, वे ही काउंसलिंग प्रक्रिया में शामिल होने के योग्य रहते हैं। मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में एडमिशन प्राप्त करने के लिए कटऑफ अंक अलग-अलग होगा और तमाम काउंसलिंग के रिजल्ट की घोषणा के बाद इस संबंध में शर्तें तय की जा सकती हैं।

सवाल : अगर कोई उम्मीदवार नीट में क्वीलीफाई करता/करती है, क्या वह काउंसलिंग प्रक्रिया में भाग लेने के योग्य है?

जवाबः परीक्षा में क्वालीफाई करने वाले उम्मीदवार काउंसलिंग प्रक्रिया में भाग लेने के योग्य होंगे। यहां यह ध्यान रखना जरूरी है कि सिर्फ नीट में क्वालीफाई करना मेडिकल या डेंटल सीट में एडमिशन की गारंटी नहीं है।

सवाल: नीट कटऑफ पर्सेंटाइल हर साल एक रहता है, जबकि कटऑफ में हर साल बदलाव होता है, ऐसा क्यों?

जवाबः नीट कटऑफ पर्सेंटाइल मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया और डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा निर्धारित किया जाता है और यह अनारक्षित कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए 50वें पर्सेंटाइल और आरक्षित कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए 40वें कैटेगरी पर तय है। पर्सेंटाइल परीक्षा में शामिल हुए सभी उम्मीदवारों के अपेक्षाकृत स्कोर पर निर्भर करता है। इसलिए पर्सेंटाइल से जुडे़ अंक में हर साल बदलाव होता है, क्योंकि उम्मीदवारों का प्रदर्शन भी अलग होगा।

सवाल: क्या नीट स्कोर भारत के बाहर मेडिकल कोर्स में एडमिशन के लिए भी स्वीकार्य होगा?

जवाब : विदेश में मेडिकल कोर्स में एडमिशन हासिल करने के लिए, उम्मीदवारों को नीट कटऑफ 2019 से जुड़ा न्यूनतम अंक प्राप्त करना होगा। इसका मतलब यह है कि मेडिकल में प्रवेश के इच्छुक उम्मीदवारों को नीट परीक्षा में क्वालीफाई करना होगा। यह योग्यता से जुड़ी महज एक शर्त है, ए़डमिशन संबंधित संस्थान या देश की जरूरतों के आधार पर निर्भर करेा, जहां स्टूडेंट एडमिशन लेना चाहते/चाहती हैं।

सवाल : क्या नीट कटऑफ के बराबर या इससे ज्यादा अंक प्राप्त करने पर उम्मीदवार स्टेट कोटा सीटों की काउंसलिंग के लिए सक्षम हो जाते हैं?

जवाब: स्टेट कोटा सीटों के लिए योग्यता स्टेट काउंसलिंग प्रशासन पर निर्भर करती है। स्टेट कोटा सीटों के लिए एडमिशन प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को नीट 2019 कटऑफ के बराबर अंक लाना होगा, लेकिन सिर्फ इस शर्त को पूरा करने से वे स्टेट कोटा सीटों के लिए योग्य नहीं होंगे। डोमिसाइल शर्तें भी हो सकती हैं।

सवाल : क्या नीट कटऑफ 2019 अगले अकैडमिक ईयर में वैलिड (वैध) माना जाएगा?

जवाब : नहीं, नीट का रिजल्ट सिर्फ एक साल के लिए वैलिड है। इसलिए, नीट 2019 का कटऑफ उस खास साल के लिए ही वैलिड माना जाएगा।

Applications Open Now

Hindustan University-UG Admissions
Hindustan University-UG Admis...
Apply
United Group of Institutions
United Group of Institutions
Apply
View All Application Forms

संबंधित लेख और समाचार

Top
150M+ छात्र
24,000+ कालेजों
500+ परीक्षा
1500+ ई बुक्स