नीट 2019 - संभावित कटऑफ और खंडवार विश्लेषण (NEET 2019 – Know expected cutoff and section-wise analysis)
Team Careers, 18 अप्रेल 2019
Applications Open Now
Hindustan University-UG Admissions
Apply

नीट 2019 - संभावित कटऑफ और खंडवार विश्लेषण - परीक्षा खत्म होने के बाद अभ्यर्थी नीट 2019 की अपेक्षित कटऑफ और सेक्शन–वाइज विश्लेषण देख सकेंगे। रेज़नन्स, आकाश और एलन कोटा जैसे प्रमुख कोचिंग इंस्टीट्यूट्स नीट 2019 की अपेक्षित कटऑफ और सेक्शन–वाइज विश्लेषण जारी करेंगे जैसे अपेक्षित श्रेणी–वार क्वालिफाइंग मार्क्स, परीक्षा का ओवरऑल डिफिकल्टी लेवल, प्रश्नों का टॉपिक–वाइज डिस्ट्रिब्यूशन और अन्य। अपेक्षित कटऑफ और विश्लेषण का प्रयोग कर, नीट देने वाले छात्र अपने प्रदर्शन और दाखिले के अवसर का मूल्यांकन बेहतर तरीके से कर पाएंगे। अपेक्षित कटऑफ और सेक्शन वाइज विश्लेषण नीट 2019 परीक्षा के बाद ही उपलब्ध हो पाएगा। पिछले वर्षों के कटऑफ और सेक्शन–वाइज विश्लेषण नीचे दिए गए हैं ताकि छात्रों को आम रूझानों के बारे में सही–सही अंदाजा हो सके। नीट 2019 के अपेक्षित कटऑफ और सेक्शन वाइज विश्लेषण पर पूरी विवरण प्राप्त करने के लिए बाकी का लेख पढ़ें।  

Latest: [Want to Know Colleges, Specialization to Apply on the basis of your NEET Scores, Click here]


नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) 5 मई को नीट (NEET) 2019 की परीक्षा आयोजित करेगी। पिछले वर्ष 13,23,673 अभ्यर्थियों ने पंजीयन कराया था जिसमें से 7,12,635 अभ्यर्थी सफल हुए थे। वर्तमान सत्र का पंजीयन विवरण अभी तक जारी नहीं किया गया है। नीट 2019 के अपेक्षित कटऑफ और सेक्शन वाइज विश्लेषण पर इस लेख में परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की प्रतिक्रिया भी दी गई है ताकि आपको समग्र दृष्टिकोण प्रदान किया जा सके।  

NEET College Predictor

Know your admission chances

Use Now


पिछले वर्ष के टॉपर द्वारा नीट 2018 के कठिन प्रश्नों का उत्तर 

नीट 2018 के वैसे अभ्यर्थी जिन्हें परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों को हल करने में बहुत परेशानी हुई ती, वे मनीष मूलचंदानी द्वारा दिए जा रहे विस्तृत उत्तर देख सकते हैं। मनीष ने नीट 2017 में ऑल इंडिया रैंक 3 और एम्स एमबीबीएस 2017 में ऑल इंडिया रैंक 10 प्राप्त की थी। वर्तमान में वे एम्स, नई दिल्ली से एमबीबीएस कोर्स कर रहे हैं। नीचे पिछले वर्षों के नीट टॉपर्स द्वारा नीट 2018 के दिए गए उत्तर को देखेः 

नीट 2019 सेक्शन–वाइज विश्लेषण

राष्ट्रीय स्तर की इस परीक्षा के समाप्त हो जाने के बाद Careers360 आपके लिए सेक्शन– वाइज नीट 2019 कटऑफ ले आएगा। नीट 2019 सेक्शन–वाइज विश्लेषण में टॉपिक–वाइज डिस्ट्रीब्यूशंस ऑफ क्वेश्चंस, 11वीं और 12वीं कक्षा की वेटेज और कठिनाई का स्तर शामिल है। यह अभ्यर्थियों को परीक्षा में उनके प्रदर्शन को देखने और दाखिले के अवसर को जानने में मदद करेगा। नीट 2019 का अपेक्षित कटऑफ और सेक्शन– वाइज एनालिसिस रेजनन्स, एलन कोटा, श्री चैतन्य और आकाश जैसे प्रमुख कोचिंग इंस्टीट्यूट्स द्वारा पब्लिश किए जाएंगे।
 

नीट 2018 सेक्शन–वाइज विश्लेषण – भौतिकी 

अभ्यर्थी और एक्सपर्ट्स दोनों ही इस बात से सहमत हैं कि नीट (NEET) 2018 का सबसे मुश्किल खंड भौतिकी का था। वास्तव में, भौतिकी के कुछ प्रश्न तो ऐसे थे जिसमें बहुत ऊंचे स्तर की गणना कौशल और कॉन्सेप्ट्स की उत्कृष्ट समझ की आवश्यकता थी। इसमें गणित (11वीं कक्षा) से प्रश्न पूछे गए थे जबकि 12वीं से, ज्यादातर प्रश्न इलेक्ट्रोडायनमिक्स से थे। नीट 2018 में भौतिकी के समग्र एवं टॉपिक–वाइज डिफिकल्टी लेवल का विश्लेषण देखें। 

नीट 2018 (भौतिकी) सेक्शन–वाइज विश्लेषण 

विषय/ टॉपिक

कुल प्रश्न 

सरल 

मध्यम 

कठिन 

मकैनिक्स 

14

5

8

1

एसएचएम एंड वेव्स 

5

1

2

2

हीट एंड थर्मोडायनमिक्स 

3

1

2

0

इलेक्ट्रोडायनमिक्स 

11

6

2

3

मॉडर्न फिजिक्स 

7

2

4

1

ऑप्टिक्स 

5

4

1

0

कुल 

45

19

19

7


नीट 2018 सेक्शन–वाइज विश्लेषण – रसायनशास्त्र 

नीट 2018 में रसायनशास्त्र का खंड मध्यम कठिनाई स्तर वाला था। 12वीं कक्षा के मुकाबले 11वींकक्षा से अधिक प्रश्न पूछे गए थे। अकार्बनिक (Inorganic) और फिजिकल केमेस्ट्री अपेक्षाकृत आसान थे। न्यूमेरिकल प्रश्न फॉर्मूला आधारित थे। 
 

नीट 2018 सेक्शन–वाइज विश्लेषण (रसायनशास्त्र)

विषय/ टॉपिक

कुल प्रश्न 

सरल 

मध्यम 

कठिन

कार्बनिक/ ऑर्गेनिक 

15

7

5

3

अकार्बनिक/ इनऑर्गेनिक 

15

2

12

1

फिजिकल

15

7

5

3

कुल 

45

16

22

7


नीट 2018 सेक्शन–वाइज विश्लेषण – जीवविज्ञान 

भौतिकी और रसायनशास्त्र को मिलाकर जितना वेटेज मिलता है उतना वेटेज अकेले बायोलॉजी यानि जीवविज्ञान का अकेले है, इसलिए सफलता प्राप्त करने के लिए इस सेक्शन में बहुत अच्छा करना महत्वपूर्ण है। नीट 2018 में, पिछले वर्ष के विपरीत, जंतु विज्ञान यानि जूलॉजी, पादप विज्ञान यानी बॉटनी के मुकाबले आसान था। साथ ही, पादप विज्ञान/ बॉटनी से अधिक प्रश्न पूछे गए थे। तीनों विषयों में बायोलॉजी/ जीवविज्ञान सबसे आसान था। 

नीट 2018 का टॉपिक– वाइज विश्लेषण– पादप विज्ञान/ बॉटनी (जीवविज्ञान)

विषय/ टॉपिक्स 

कुल प्रश्न 

सरल

मध्यम 

कठिन 

प्लांट डायवर्सिटी/ पौधों की विविधता 

8

2

5

1

प्लांट एनाटॉमी/ पादप शरीर–रचना विज्ञान 

4

3

1

0

प्लांट मॉर्फालजी/ पादप आकृति विज्ञान  

2

2

0

0

सेल बायोलॉजी और सेल डिविजन  

5

1

4

0

बायोमॉल्येक्यूल 

1

0

1

0

प्लांट फिजियोलॉजी 

7

3

3

1

प्लांट रिप्रोडक्शन 

5

3

2

0

जेनेटिक्स + बायोटेक्नोलॉजी 

16

9

7

0

इकोलॉजी 

11

3

8

0

कुल

59

26

31

2


नीट 2018 का टॉपिक– वाइज विश्लेषण– जंतुविज्ञान/जूलॉजी (जीवविज्ञान)

विषय/ टॉपिक्स 

कुल प्रश्न 

सरल

मध्यम 

कठिन 

जंतु विविधता/ एनिमल डायवर्सिटी 

4

2

2

0

स्ट्रक्चरल ऑर्गेनाइजेशन इन एनिमल 

1

1

0

0

ह्यूमन फिजियोलॉजी 

15

8

6

1

ह्यूम रिप्रोडक्शन एंड रिप्रोडक्टिव हेल्थ 

5

3

0

2

विकास 

3

3

0

0

ह्यूमन हेल्थ एंड डिजिजेज 

3

2

0

1

कुल

31

19

8

4


नीट 2018 विश्लेषण- कठिनाई का कुल स्तर 

नीट 2018 की कठिनाई का कुल स्तर मध्यम था। नीट 2018 के विषय–वार कठिनाई स्तर का विश्लेषण नीचे दिया जा रहा है।  


नीट 2018 विश्लेषण की मुख्य बातें 

  • परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों के अनुसार, नीट (NEET) 2018 का प्रश्नपत्र पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों की तुलना में मध्यम स्तर की कठिनाई वाला था।   

  • पेपर में 11वीं और 12वीं कक्षा से संतुलित मात्रा में प्रश्न थे। 

  •  तीन खंडों में, भौतिकी थोड़ा कठिन था, रसायनशास्त्र मध्यम और जीवविज्ञान सबसे सरल था।  

  •  भौतिकी में, सैद्धांतिक यानि थ्योरेटिकल प्रश्न सरल थे लेकिन न्यूमेरिकल्स कुछ मुश्किल। जहाँ तक बात जीवविज्ञान की है तो कई अभ्यर्थियों ने बताया कि बॉटनी/ पादप विज्ञान सबसे आसान था।  

  • फिजिक्स यानी भौतिकी में सबसे अधिक प्रशअन मकैनिक्स और इलेक्ट्रोस्टैटिक्स से पूछे गए थे। रसायनशास्त्र में प्रतिक्रियाओं /रिएक्शंस से अधिक प्रश्न थे, बायोलॉजी/ जीवविज्ञान में जूलॉजी और बॉटनी के सभी विषयों से अच्छी संख्या में प्रश्न आए थे।  

  • नीट 2018 के प्रश्न पत्रों पर ज्यादातर अभ्यर्थियों ने संतोष जताया।  


छात्रों का फीडबैक – नीट विश्लेषण 2018

नीट 2018 में करीब 11.38 लाख छात्रों ने पंजीयन कराया था जिसमें से 6.11 लाख ने परीक्षा पास की थी। नीचे परीक्षा देने वाले छात्रों का फीडबैक दिया जा रहा है। 

सृष्टि, जैसा कि ज्यादतर अभ्यर्थियों को लगता है, को भौतिकी सबसे कठिन और जीवविज्ञान सबसे आसान लगा। रसायनशास्त्र इन दोनों विषयों के बीच में था, और इसमें रिएक्शन–बेस्ड प्रश्न अधिक पूछे गए थे। 

दूसरी बात नीट की परीक्षा में शामिल हो रहे लक्ष्य ने बताया कि, "प्रश्न एनसीईआरटी से पूछे गए थे और मैं अपने पेपर से बहुत खुश हूँ"। उन्होंने यह भी बताया कि पिछले वर्षों की तुलना में इस वर्ष प्रश्नपत्र की कठिनाई का स्तर मध्यम था। 


नीट कटऑफ 2019

परीक्षा में क्वालिफाइ करने के लिए, सभी अभ्यर्थियों को अपनी श्रेणी के अनुसार नीट 2019 में मिनिमम पर्सेंटाइल मार्क्स स्कोर करने होंगे। नीट 2019 में सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम पर्सेंटाइल 50; इसलिए इस पर्सेंटाइल से कम स्कोर लाने वाला कोई भी अभ्यर्थी काउंसलिंग और सीट अलाट्मन्ट प्रक्रिया में हिस्सा लेने योग्य नहीं माना जाएगा। कृपया ध्यान दें कि नीट 2019 कटऑफ (NEET 2019 cutoff) पर्सेंटाइल में दिया गया है, इसलिए वास्तविक न्यूनतम अंक अलग होंगें जो अभ्यर्थी द्वारा परीक्षा में किए गए प्रदर्शन पर निर्भर करेगा। उदाहरण के लिए,  यदि परीक्षा में अधिक संख्या में अभ्यर्थी अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो मिनिमम कटऑफ मार्क्स के बढ़ने की संभावना बहुत अधिक होती है (हालांकि पर्सेंटाइल वही बना रहता है, जैसे  सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए 50%) 


नीट 2019 कटऑफ मार्क्स रिजल्ट की घोषणा के समय NTA द्वारा जारी किया जाएगा।

नीट 2018 क्वालिफाइंग कटऑफ

श्रेणी 

न्यूनतम क्वालिफाइंग पर्सेंटाइल 

कटऑफ मार्क्स 

पास हुए अभ्यर्थियों की संख्या 

अनारक्षित (UR)

50 पर्सेंटाइल 

119 

6,34,897

अनारक्षित शारीरिक विकलांग  (UR-PH)

45 पर्सेंटाइल 

107

205

अनुसूचित जाति (SC)

40 पर्सेंटाइल

96

17209

अनुसूचित जनजाति (ST)

40 पर्सेंटाइल

96

7446

अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC)

40 पर्सेंटाइल

96

54653

अनुसूचित जाति–विकलांग (SC-PH) 

40 पर्सेंटाइल

96

36

अनु. जनजाति– विकलांग (ST-PH)

40 पर्सेंटाइल

96

12

ओबीसी– विकलांग (OBC-PH) 

40 पर्सेंटाइल

96

104


नीट 2017 क्वालिफाइंग कटऑफ

श्रेणी 

न्यूनतम क्वालिफाइंग पर्सेंटाइल 

कटऑफ मार्क्स 

पास हुए अभ्यर्थियों की संख्या 

अनारक्षित (UR)

50 पर्सेंटाइल 

131

5,43,473

अनारक्षित शारीरिक विकलांग  (UR-PH)

45 पर्सेंटाइल 

118

67

अनुसूचित जाति (SC)

40 पर्सेंटाइल

107

14599

अनुसूचित जनजाति (ST)

40 पर्सेंटाइल

107

6018

अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC)

40 पर्सेंटाइल

107

47382

अनुसूचित जाति–विकलांग (SC-PH) 

40 पर्सेंटाइल

107

38

अनु. जनजाति– विकलांग (ST-PH)

40 पर्सेंटाइल

107

10

ओबीसी– विकलांग (OBC-PH) 

40 पर्सेंटाइल

107

152


सरकारी कॉलेजों के लिए नीट कटऑफ रुझान (एमबीबीएस)

पिछले वर्षों के नीट क्लोजिंग रैंक और क्वालिफाइंग रुझानों पर विचार करने के बाद आप अपनी पसंद के मेडिकल कॉलेज में दाखिले के अपने अवसर के बारे में जान सकते हैं। 


राज्य–वार नीट 2018 अपेक्षित कटऑफ – सरकारी मेडिकल कॉलेज (ऑल इंडिया कोटा)

राज्य 

AIQ सीटें (सामान्य श्रेणी) 

नीट क्लोजिंग रैंक 


नीट मार्क्स 


अंडमान और निकोबार

8222

563

आंध्र प्रदेश 

-

-

असम 

8290

563

बिहार 

7906

565

चंडीगढ़ 

278

653

छत्तीसगढ़ 

7977

564

दमन और दीव 

-

-

दिल्ली 

818

632

गोवा 

5834

577

गुजरात 

5096

581

हरियाणा 

5097

581

हिमाचल प्रदेश 

6385

573

जम्मू और कश्मीर 

 

 

झारखंड 

7184

568

कर्नाटक 

7939

565

केरल 

5215

581

मध्य प्रदेश 

6160

574

महाराष्ट्र 

7616

566

मणिपुर 

8317

563

मेघालय 

7827

565

ओडीशा 

8203

563

पुडुचेरी 

6166

574

पंजाब 

4880

583

राजस्थान 

4514

586

सिक्किम 

-

-

तमिलनाडु 

7740

566

तेलंगाना 

-

-

त्रिपुरा 

8150

563

उत्तर प्रदेश 

6832

570

उत्तराखंड 

6871

570

पश्चिम बंगाल 

8127

564


राज्य–वार नीट 2018 अपेक्षित कटऑफ – सरकारी मेडिकल कॉलेज (राज्य कोटा )

राज्य 

राज्य कोटा सीटें (सामान्य श्रेणी )

नीट क्लोजिंग रैंक 


नीट मार्क्स 


अंडमान और निकोबार

उपलब्ध नहीं 

उपलब्ध नहीं

आंध्र प्रदेश 

उपलब्ध नहीं 

उपलब्ध नहीं 

असम 

66804

419

बिहार 

11955

546

चंडीगढ़ 

12370

544

छत्तीसगढ़ 

42265

463

दमन और दीव 

-

-

दिल्ली 

5547

579

गोवा 

2,75,126

232

गुजरात 

37147

474

हरियाणा 

9612

556

हिमाचल प्रदेश 

33033

483

जम्मू और कश्मीर 

उपलब्ध नहीं 

उपलब्ध नहीं 

झारखंड 

15716

532

कर्नाटक 

83398

395

केरल 

4917

583

मध्य प्रदेश 

12272

545

महाराष्ट्र 

33267

482

मणिपुर 

उपलब्ध नहीं 

उपलब्ध नहीं 

मेघालय 

उपलब्ध नहीं 

उपलब्ध नहीं 

ओडीशा 

15489

533

पुडुचेरी 

उपलब्ध नहीं 

उपलब्ध नहीं 

पंजाब 

12370

544

राजस्थान 

2,71,272

234

सिक्किम 

उपलब्ध नहीं 

उपलब्ध नहीं 

तमिलनाडु 

1,115 (राज्य रैंक)

374

तेलंगाना 

उपलब्ध नहीं 

उपलब्ध नहीं 

त्रिपुरा 

1,16,964 (डोमिसाइल)

354 (डोमिसाइल)

उत्तर प्रदेश 

10978

550

उत्तराखंड 

24465

505

पश्चिम बंगाल 

41723

464


टॉप 10 सरकारी मेडिकल कॉलेजेज के लिए नीट 2018 की अपेक्षित कटऑफ (पिछले वर्ष के आधार पर)

क्र. सं.

कॉलेज का नाम 


AIQ सीटें (UR)

नीट क्लोजिंग रैंक

नीट मार्क्स

1

किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ 

725

635

2

यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेस, नई दिल्ली 

185

660

3

मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली 

6744

571

4

लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज फॉर वुमेन, नई दिल्ली 

369

647

5

वर्धमान महावीर मेडिकल कॉलेज एंड सफदरजंग हॉस्पिटल, नई दिल्ली 

82

671

6

ग्रांट मेडिकल कॉलेज और सर जेजे ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स, मुंबई 

1018

626

7

मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई 

2417

605

8

सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज, बीकानेर 

3258

596

9

लोकमान्य तिलक म्युनिसिपल मेडिकल कॉलेज, सायन, मुंबई 

1384

620

10

टोपीवाला नेशनल मेडिकल कॉलेज और बी वाई एल नायर चैरिटेबल हॉस्पिटल, मुंबई 

1855

612


नीट परीक्षा पैटर्न 2019

पेन–एंड–पेपर मोड में 5 मई को होने वाली नीट (NEET) 2019 की परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को नीट (NEET) 2019 परीक्षा पैटर्न देख लेना चाहिए। यह अभ्यर्थियों को परीक्षा के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जैसे पूछे जाने वाले प्रश्नों के प्रकार, मार्किंग स्कीम, परीक्षा किस भाषा में ली जाएगी और अन्य प्रदान करेगा। नीट 2019 का परीक्षा पैटर्न जानने के लिए नीचे दी जा रही तालिका देखें। 


नीट 2019 परीक्षा पैटर्न 

परीक्षा का मोड 

ऑफलाइन 

अवधि 

3 घंटे (180 मिनट)

माध्यम

अंग्रेजी, हिन्दी, उर्दू, असमिया, मराठी, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, बंगाली, गुजराती, उड़िया 

सेक्शन–वार प्रश्न  

भौतिकी (45 प्रश्न)

रसायनशास्त्र (45 प्रश्न)

जीवविज्ञान (90 प्रश्न)

प्रश्नों का प्रकार 

बहुवैकल्पिक (MCQs)

कुल प्रश्न

180

मार्किंग स्कीम 

सही उत्तर: (+4)

गलत उत्तरः (-1)

अनुत्तरित: 0

Applications Open Now

Hindustan University-UG Admissions
Hindustan University-UG Admis...
Apply
United Group of Institutions
United Group of Institutions
Apply
View All Application Forms

संबंधित लेख और समाचार

Top
150M+ छात्र
24,000+ कालेजों
500+ परीक्षा
1500+ ई बुक्स