एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2019 (AIIMS MBBS Cutoff 2019)
Team Careers360, 13 जून 2019
Applications Open Now
UPES - School of Health Sciences
Apply

एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2019 – एम्स, नयी दिल्ली द्वारा एम्स एमबीबीएस 2019 का कटऑफ और रिजल्ट 12 जून को घोषित कर दिया गया है। उम्मीदवारों को परीक्षा में पास होने के लिए एम्स एमबीबीएस 2019 का कटऑफ का न्यूनतम प्रतिशत लाना अनिवार्य है। अलग वर्गों के लिए कटऑफ भी अलग-अलग है। एम्स एमबीबीएस 2019 कट ऑफ केवल ऑनलाइन रुप में जारी की गई है। सामान्य वर्ग के लिए कटऑफ पर्सेंटाइल स्कोर 98.1246748 घोषित किया गया है। ओबीसी और अनारक्षित पीडब्ल्यूडी श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए कटऑफ पर्सेंटाइल 95.2939507 है। ओबीसी पीडब्ल्यूडी श्रेणी और एससी / एसटी वर्ग के लिए कटऑफ पर्सेंटाइल 90.2036135 है। एससी / एसटी पीडब्ल्यूडी के लिए कटऑफ 82.2825521 है। यह नोट कर लें कि जितने भी उम्मीदवार उत्तीर्ण होने के लिए न्यूनतम पर्सेंटाइल पायेंगे, जरुरी नहीं कि वे सभी के सभी काउंसलिंग के योग्य होंगे, लेकिन वे एम्स एमबीबीएस काउंसलिंग 2019 के ओपन राउंड के लिए बुलाये जायेंगे। प्राधिकरण ने उन उम्मीदवारों की मेरिट सूची जारी की है जो 20 जून 2019 को आयोजित होने वाली काउंसलिंग के मॉक राउंड में भाग लेने के लिए पात्र होंगे। एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2019 सिर्फ योग्यता के लिए ही है और पाने का यह न्यूनतम पर्सेंटाइल मतलब नहीं है कि उम्मीदवारों का नाम मेधा सूची में आ जाएगा। मेधा सूची में आने के लिए उम्मीदवारों को दूसरे एमबीबीएस कटऑफ के योग्य होना होगा जो पर्सेंटाइल के ही रूप में निर्धारित होगा। उम्मीदवार एम्स एमबीबीएस 2019 के अपने न्यूनतम क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल, मेरिट पर्सेंटाइल, ज़रूरी तारीखें और पिछले साल के कटऑफ की तुलना और इसके विषय में जानकारी इस लेख में पाएंगे।

Latest - [ AIIMS MBBS 2020 Online Preparation – Start preparation with AI-based E-Learning platform with 5000+ concepts with video solutions, smart study material, prep booster, mock test, sample paper, 24*7 faculty support] Start Preparation

LATEST: एम्स एमबीबीएस 2019 रिजल्ट यहाँ देखें!

एम्स एमबीबीएस का आयोजन 25 मई और 26 मई 2019 को चार पारियों में किया गया था। परीक्षा का रिजल्ट मेधा सूची के रूप में आया है जिसमें पहले तीन राउंड में क्वालीफाई करने वाले उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं। जो उम्मीदवार एम्स एमबीबीएस 2019 योग्यता कटऑफ के बराबर या ज़्यादा अंक पायेंगे वे एम्स एमबीबीएस 2019 के काउंसलिंग के लिए बुलाये जायेंगे। इस आर्टिकल में एम्स एमबीबीएस 2019 कटऑफ का मतलब है न्यूनतम प्रतिशत अंक जिसकी ज़रुरत परीक्षा को पास करने के लिए होगी। जबकि मेरिट कटऑफ का मतलब पर्सेंटाइल से होगा, जो एम्स एमबीबीएस 2019 काउंसलिंग प्रक्रिया में योग्यता के लिए ज़रूरी होगा।

AIIMS MBBS 2020 Online Preparation

Get Access to AI based coaching with Video Lectures, Mock Test, Sample Paper, and Prep Booster

Start Now

एम्स एमबीबीस कटऑफ 2019 के अनुसार सामान्य वर्ग में आने वाले उम्मीदवारों को एम्स एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा में कम से कम 50 प्रतिशत अंक पाने होंगे, जबकि ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 45 प्रतिशत अंक लाना ज़रूरी है और एससी/एसटी वर्ग के उम्मीदवारों को कम से कम 40 प्रतिशत अंक लाने की ज़रूरत है। एम्स एमबीबीएस 2019 की परीक्षा 4 सत्रों में आयोजित की गई थी, हर सत्र में उम्मीदवारों के प्रदर्शन, हर सत्र में उम्मीदवारों की संख्या और प्रश्न-पत्र की कठिनाई के अनुसार मानकीकरण प्रक्रिया का इस्तेमाल होगा। इन सारे कारकों को ध्यान में रखकर चारों में से सबसे कम पर्सेंटाइल को एम्स एमबीबीएस 2019 के योग्य कटऑफ माना जाता है।

एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2019

एम्स एमबीबीएस 2019 कटऑफ एम्स एम्स 2019 की परीक्षा को उत्तीर्ण करने के लिए आवश्यक अंकों को दर्शाती है। विभिन्न श्रेणियों के लिए न्यूनतम आवश्यक प्रतिशत भिन्न है। सभी पीडब्लूबीडी उम्मीदवारों को उनकी संबंधित श्रेणी में 5% प्रतिपूर्ति दी गई है और उनका कट ऑफ पर्सेंटाइल उसी के अनुसार निर्धारित किया गया है। एम्स एमबीबीएस 2019 कटऑफ पर्सेंटाइल एम्स एमबीबीएस रिजल्ट के साथ ही जारी किया गया है। उम्मीदवार नीचे दी गई तालिका में एम्स एमबीबीएस 2019 श्रेणी-वार के कट ऑफ प्रतिशत की जांच कर सकते हैं।

एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2019- योग्यता प्रतिशत और पर्सेंटाइल

कैटेगरी

न्यूनतम योग्यता प्रतिशत


सामान्य (जनरल)

50 प्रतिशत

98.1246748

अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) (नॉन-क्रीमी लेयर)

45 प्रतिशत

95.2939507

अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी)

40 प्रतिशत

90.2036135

यूआर शारीरिक रूप से विकलांग (ओपीएच)

45 प्रतिशत

95.2939507
ओबीसी (ओपीएच)

40 प्रतिशत

90.2036135
एससी/एसटी (ओपीएच)
35 प्रतिशत82.2825521


मॉक राउंड के लिए योग्य कट-ऑफ पर्सेंटाइल

कैटेगरी

कट-ऑफ पर्सेंटाइल एलिजिबल
ओवरऑल रैंक
कैटेगरी रैंक
यूआर
99.315278723402340
यूआर-पीडब्ल्यूबीडी95.39483061586315863
ओबीसी (एनसीएल)
98.741043243121240
पीडब्ल्यूबीडी-ओबीसी (एनसीएल)90.39634873270912356
एससी
92.162890826850688
पीडब्ल्यूबीडी- एससी86.0098826478091856
एसटी
90.354919933190216
पीडब्ल्यूबीडी-एसटीNANANA


एम्स एमबीबीएस 2019 की योग्यता और मेरिट पर्सेंटाइल के विषय में जरुरी बातें

एम्स एमबीबीएस 2019 की परीक्षा 4 सत्रों में ली जायेगी और हर सत्र के लिए अलग-अलग प्रश्न-पत्र का इस्तेमाल होगा। हर सत्र में उम्मीदवारों के प्रदर्शन, उम्मीदवारों की संख्या और प्रश्न-पत्र की कठिनाई के अनुसार पर्सेंटाइल स्कोर निकाला जाएगा। परीक्षा के सत्रों में होने से शुद्ध कटऑफ पर्सेंटाइल निकालने के लिए मानकीकरण प्रक्रिया का इस्तेमाल होगा। एम्स एमबीबीएस 2019 रिजल्ट जो मेधा सूची के रूप में होगी, उसमें उम्मीदवारों का नाम अलग से हाई मेरिट कटऑफ पर्सेंटाइल के रूप में होगा और उन्हें एम्स एमबीबीएस 2019 काउंसलिंग के लिए भी बुलाया जाएगा। चयनित उम्मीदवारों की संख्या मौजूदा सीटों से चार गुना ज़्यादा होगी।

मानकीकरण प्रक्रिया परीक्षा में बैठे उम्मीदवारों के बीच इंटर-से मेरिट/रैंकिंग (inter-se merit/ranking) निकालने के लिए की जाती है। पर्सेंटाइल के अनुसार ही आयोजक संस्था मानकीकरण प्रक्रिया का इस्तेमाल करेगा। हर छात्र के सापेक्ष प्रदर्शन के अनुसार ही पर्सेंटाइल स्कोर निकाला जाएगा। हर सत्र में सबसे अधिक स्कोर होगा 100वां पर्सेंटाइल। जिसका तात्पर्य यह है कि 100 प्रतिशत उम्मीदवारों ने उस सत्र में सबसे अधिक स्कोर करने वाले के बराबर या उससे कम स्कोर किया है। चूँकि, परीक्षा सत्रों में ली जायेगी, इसलिए एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2019 के बराबर पर्सेंटाइल अलग-अलग होंगे। उस स्थिति में, हर सत्र से सबसे कम पर्सेंटाइल को एम्स एमबीबीएस 2019 के फाइनल योग्यता कटऑफ की तरह हर 4 सत्रों के लिए मान्य किया जाएगा।

जैसे- अगर चार सत्रों में, अनारक्षित उम्मीदवार जिन्होंने एम्स एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा में 50 प्रतिशत अंक पाए हैं, और वे 80, 85, 90 और 92 पर्सेंटाइल पर हैं, तो चारों सत्रों में पर्सेंटाइल के अंतर की कारण मानकीकरण प्रक्रिया का इस्तेमाल होगा। इस स्थिति में, 80 पर्सेंटाइल सबसे कम पर्सेंटाइल है इसलिए यह कटऑफ पर्सेंटाइल बन जाएगा।

मानकीकरण प्रक्रिया काफी लाभदायक है क्योंकि यह एम्स एमबीबीएस कटऑफ क्राइटेरिया के लिए काफी कारकों को ध्यान में रखता है जैसे कि परीक्षा की कठिनाई स्तर, परीक्षा देने वालों की संख्या, उम्मीदवारों की तैयारी का स्तर आदि।

एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2019 - टाईब्रेकिंग क्राइटेरिया

एम्स एमबीबीएस 2019 की मेधा सूची कुल रॉ (raw) अंकों के पर्सेंटाइल स्कोर पर निर्भर होगी। अगर दो या दो से ज़्यादा उम्मीदवारों का पर्सेंटाइल बराबर आता है तो आल इंडिया रैंक के लिए टाई को तोड़ने का मापदंड इस प्रकार होगा-

  • जीव विज्ञान में पर्सेंटाइल– सबसे पहले टाई को तोड़ने के लिए उम्मीदवार के एम्स एमबीबीएस 2019 के जीव विज्ञान के पर्सेंटाइल को देखा जाएगा। जिस उम्मीदवार को जीव विज्ञान में ज़्यादा पर्सेंटाइल मिले हैं, उन्हें प्राथमिकता दी जायेगी और उन्हें मेधा सूची में ऊपर रखा जाएगा।

  • रसायनशास्त्र में पर्सेंटाइल- अगर फिर भी टाई की स्थिति बनी रहती है, तो रसायनशास्त्र के पर्सेंटाइल स्कोर को देखा जाएगा। जिन उम्मीदवारों का रसायनशास्त्र में अधिक पर्सेंटाइल होगा उन्हें प्राथमिकता दी जायेगी।

  • भौतिकी में पर्सेंटाइल- अगर ऊपर के मापदंड फेल होते हैं, तो भौतिकी में उम्मीदवार का पर्सेंटाइल देखा जाएगा। भौतिकी में ज़्यादा पर्सेंटाइल वाले उम्मीदवारों को ऊँची रैंक पर रखा जाएगा।

  • उम्र- अगर ऊपर दिए सारे मापदंड फेल होते हैं तो उम्मीदवार की उम्र को देखा जाएगा। जो उम्मीदवार उम्र में अधिक होंगे उन्हें प्राथमिकता दी जायेगी।

एम्स एमबीबीएस पूर्व योग्यता और मेरिट कटऑफ

एम्स एमबीबीएस 2019 कटऑफ जो योग्य होने के लिए आवश्यक है उसे परसेंटेज अंक के तौर पर प्रकाशित किया जाएगा। परसेंटेज अंक उम्मीदवारों द्वारा प्रवेश परीक्षा में पाए गए अंक और उसके बाद मानकीकरण प्रक्रिया लगाने के बाद उसके अनुसार निकाला जाएगा। सिर्फ वही उम्मीदवार जो एम्स एमबीबीएस कटऑफ आवश्यकता के बराबर या ज़्यादा अंक लायेंगे, उन्हें आगे की प्रवेश प्रक्रिया के लिए मान्य घोषित किया जाएगा।

परीक्षा में योग्य होने के बाद, मेरिट पर्सेंटाइल को ध्यान में रखा जाएगा ताकि यह देखा जा सके कि उम्मीदवार योग्य है या नहीं। आयोजक संस्था मेधा सूची में सभी वर्गों में सीटों के मुकाबले चार गुना ज़्यादा उम्मीदवार का चयन करेगी। हर वर्ग में अंतिम उम्मीदवार द्वारा पाए गए अंक ही एम्स एमबीबीएस 2019 का कटऑफ होगा।

पिछले साल की एम्स एमबीबीएस योग्यता और मेरिट कटऑफ नीचे दिया गया है। इसमें पिछले साल के वर्ग के अनुसार कटऑफ प्रतिशत, मेरिट कटऑफ पर्सेंटाइल (जिस पर उम्मीदवार काउंसलिंग के लिए योग्य हुए थे) और अंत में संस्थान के अनुसार अंतिम रैंक और उसके बराबर पर्सेंटाइल दिया गया है यानी कटऑफ रैंक और पर्सेंटाइल जिससे 2018 में 9 एम्स संस्थान में और 2017 में 7 एम्स संस्थान में एडमिशन दिया गया था।

एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2018- कटऑफ प्रतिशत और पर्सेंटाइल

वर्ग

क्वालीफाईंग कटऑफ प्रतिशत

सामान्य/यूआर

50 प्रतिशत

ओबीसी (एनसीएल)

45 प्रतिशत

एससी/एसटी

40 प्रतिशत


वर्ग

मेरिट कटऑफ पर्सेंटाइल

सामान्य/यूआर

98.8334496

ओबीसी (एनसीएल)

97.0117712

एससी/एसटी

93.6505421

एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2017- कटऑफ प्रतिशत और पर्सेंटाइल

वर्ग

क्वालीफाईंग कटऑफ प्रतिशत

सामान्य/यूआर

50 प्रतिशत

ओबीसी (एनसीएल)

45 प्रतिशत

एससी/एसटी

40 प्रतिशत


वर्ग

मेरिट कटऑफ पर्सेंटाइल

सामान्य/यूआर

99.0014978

ओबीसी (एनसीएल)

97.4205359

एससी/एसटी

94.1220114

एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2018- मेरिट पर्सेंटाइल


वर्ग


काउंसलिंग मेरिट पर्सेंटाइल


एम्स एमबीबीएस 2018 रैंक


सामान्य (जेनरल)


99.5794948


1600


सामान्य (पीडबल्यूडी)


99.4051015


2270


ओबीसी (एनसीएल)


99.1600595


3221


ओबीसी


97.3549899


9973


एससी


94.5761745


20490


एससी (पीडबल्यूडी)


97.5871200


9254


एसटी

93.6505421

24151

एम्स एमबीबीएस कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल

उम्मीदवार नीचे दिए गए टेबल से साल 2018, 2017 और 2016 में एम्स संस्थान में एडमिशन के लिए फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल स्कोर चेक कर सकते हैं। यहाँ यह ध्यान देना ज़रूरी है कि 2018 का रैंक और पर्सेंटाइल काउंसलिंग के पहले तीन राउंड के सीट आवंटन के रिजल्ट के आधार पर निर्धारित किया गया है।

एम्स नयी दिल्ली कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


एम्स एमबीबीएस 2017 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


सामान्य


53


99.9862634


52


99.9829207


ओबीसी


236


99.9408272


5590


98.0550008


एससी


1081


99.7160692


1143


99.6061463


एसटी


2090


99.4468163


4478


98.4429374


एम्स भोपाल कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


एम्स एमबीबीएस 2017 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


सामान्य


647


99.8330444


1003


99.6520093


ओबीसी


1516


99.6048099


6596


97.7173129


एससी


8657


97.7236811


17140


94.1220114


एसटी


22120


94.1619645


13311


95.3772034


एम्स पटना कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


एम्स एमबीबीएस 2017 फाइनल रैंक

बराबर पर्सेंटाइल


सामान्य


1222


99.6822136


1720


99.4086293


ओबीसी


2048


99.4617961


2494


99.1367116


एससी


14195


96.2699973


16342


94.2734538


एसटी


24045


93.6524985


-


-


एम्स जोधपुर कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


एम्स एमबीबीएस 2017 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


सामान्य


459


99.8816543


753


99.7482942


ओबीसी


958


99.7495721


979


99.6643923


एससी


5704


98.4920829


16536


94.2606923


एसटी


17468


95.4044019


12484


95.7024217


एम्स ऋषिकेश कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


एम्स एमबीबीएस 2017 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


सामान्य


769


99.7997532


1,382


99.5270982


ओबीसी


1664


99.5616219


6,768


97.6417318


एससी


10471


97.2495192


12,159


95.8162837


एसटी


23966


93.6881413


14,906


94.8370706


एम्स रायपुर कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


एम्स एमबीबीएस 2017 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


सामान्य


1145


99.6980062


1536


99.4790814


ओबीसी


2074


99.4611044


2514


99.1367116


एससी


13607


96.4031347


13741


95.2405690


एसटी


23579


93.7857943


13609


95.2405690


एम्स भुवनेश्वर कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


एम्स एमबीबीएस 2017 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


सामान्य


542


99.8592860


571


99.8035881


ओबीसी


1453


99.6248864


1142


99.6061463


एससी


9038


97.6489359


6573


97.7173129


एसटी


19414


94.8477042


11833


95.9287224


एम्स नागपुर कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


सामान्य


1324


99.6547096


ओबीसी


2168


99.4307664


एससी


13638


96.3973507


एसटी


23875


93.6881413

एम्स गुंटूर कटऑफ- फाइनल रैंक और पर्सेंटाइल


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018 फाइनल रैंक


बराबर पर्सेंटाइल


सामान्य


1353


99.6469040


ओबीसी


2212


99.4209514


एससी


14510


96.1877341


एसटी


23232


93.8388933

एम्स एमबीबीएस कटऑफ 2016- संस्थान के अनुसार फाइनल रैंक कटऑफ


एम्स संस्थान का नाम


सामान्य

ओबीसी


एससी


एसटी


अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नयी दिल्ली


37


256


1,138


2,825


अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, भोपाल


1,022


1,170


14,170


20,498



अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, भुवनेश्वर


1,078


1,034


16,865


13,905


अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, जोधपुर


871


1,946


8,151


18,701



अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, पटना



2,949


2,130


17,198


23,845


अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, रायपुर


1,099


1,991


16,297


23,929


अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, ऋषिकेश


1,045


2,095


18,049


20,140

एम्स एमबीबीएस 2018 वर्सेज एम्स एमबीबीएस 2017 वर्सेज एम्स एमबीबीएस 2016

उम्मीदवार नीचे के टेबल में यह देख सकते हैं कि वर्ष 2016, 2017 और 2018 में कितने लोगों ने एम्स एमबीबीएस काउंसलिंग के पहले राउंड में योग्यता हासिल की थी और काउंसलिंग प्रक्रिया में आखिरी कितने रैंक को बुलाया गया था। इस बात का ध्यान रखें कि एम्स एमबीबीएस 2018 प्रवेश परीक्षा के लिए हर उम्मीदवार जिसने प्रवेश परीक्षा पास की है, उसमें से हर किसी को काउंसलिंग के लिए नहीं बुलाया जाएगा, बल्कि सिर्फ ओपन राउंड के लिए ही बुलाया जाएगा।

एम्स एमबीबीएस का पहला काउंसलिंग- योग्य उम्मीदवार और अंतिम रैंक


वर्ग


एम्स एमबीबीएस 2018


एम्स एमबीबीएस 2017

एम्स एमबीबीएस 2016


पहले काउंसलिंग के लिए योग्य उम्मीदवार


फाइनल रैंक


पहले काउंसलिंग के लिए योग्य उम्मीदवार


फाइनल रैंक


पहले काउंसलिंग के लिए योग्य उम्मीदवार


फाइनल रैंक


सामान्य


1,189


1600


1,025


1400


1,014


2,949


ओबीसी


863


3221


759


6768


724


2,690


एससी


484


20490


361


17140


404


19,378


एसटी


113


24191


64


16,333


94


24,333


कुल उम्मीदवार


2,649





2,209






2,236






एम्स एमबीबीएस रिजल्ट 2019

12 जून को एम्स एमबीबीएस 2019 का रिजल्ट घोषित किया जाएगा। व्यक्तिगत स्कोर कार्ड और मेधा सूची के रूप में रिजल्ट ऑनलाइन मोड में आयेगा। मेधा सूची में उन्हीं उम्मीदवारों का नाम होगा जिन्होंने परीक्षा पास की होगी और जो काउंसलिंग प्रक्रिया के लिए योग्य होंगे। एम्स एमबीबीएस 2019 की मेधा सूची होगी- रोल नंबर के अनुसार और रैंक के अनुसार प्रकाशित की जाएगी। जो उम्मीदवार परीक्षा में बैठे हैं उन्हें व्यक्तिगत स्कोरकार्ड दिया जाएगा। उम्मीदवार अपने ‘कैंडिडेट लॉग इन’ में लॉग इन कर अपना एम्स एमबीबीएस 2019 का स्कोरकार्ड प्राप्त कर सकते हैं।

एम्स एमबीबीएस काउंसलिंग 2019

एम्स, नयी दिल्ली काउंसलिंग की शुरुआत जून के आखिरी हफ्ते में करेगा, जो तीन सत्रों में होगा। अगर सीटें खाली रहती हैं, तो ओपन राउंड भी करवाया जाएगा। ओपन राउंड के अलावा, एम्स एमबीबीएस काउंसलिंग की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन मोड में कराई जायेगी। काउंसलिंग के पहले राउंड में सीटों के मुकाबले उम्मीदवारों की संख्या चार गुना ज़्यादा होगी। हालांकि, हर उम्मीदवार एम्स एमबीबीएस काउंसलिंग प्रक्रिया में भाग ले सकता है।

Applications Open Now

UPES - School of Health Sciences
UPES - School of Health Sciences
Apply
View All Application Forms

संबंधित लेख और समाचार

Related E-books and Sample Papers

Top
150M+ छात्र
24,000+ कालेजों
500+ परीक्षा
1500+ ई बुक्स